This website uses cookies to ensure you get the best experience on our website. Learn more

Playlist of महाकाली का विनाशकारी क्रोध देख शंकर जी ने लिया ये फैसला

x
  • जब महाकाली तथा महाकाल एक साथ हुये क्रोधित !! विनाशकारी प्रलय #MaaShakti

    21:11

    जब महाकाली तथा महाकाल एक साथ हुये क्रोधित !! विनाशकारी प्रलय #MaaShakti

    जब सम्पूर्ण जगत् जलमग्न था और भगवान विष्णु शेषनाग की शय्या बिछाकर योगनिद्रा का आश्रय ले सो रहे थे, उस समय उनके कानों के मैल से मधु और कैटभ दो भयंकर असुर उत्पन्न हुए। वे दोनों ब्रह्माजी का वध करने को तैयार हो गये। भगवान विष्णु के नाभिकमल में विराजमान प्रजापति ब्रह्माजी ने जब उन दोनों भयानक असुरों को अपने पास आया और भगवान को सोया हुआ देखा, तब एकाग्रचित्त होकर उन्होंने भगवान विष्णु को जगाने के लिये उनके नेत्रों में निवास करनेवाली योगनिद्रा का स्तवन आरम्भ किया। जो इस विश्व की अधीश्वरी, जगत् को धारण करनेवाली, संसार का पालन और संहार करने वाली तथा तेज:स्वरूप भगवान विष्णु की अनुपम शक्ति हैं, उन्हीं भगवती निद्रादेवी की भगवान ब्रह्मा स्तुति करने लगे। ब्रह्माजी ने कहा- देवि! तुम्हीं इस जगत् की उत्पत्ति, स्थिति और संहार करनेवाली हो। तुम्हीं जीवनदायिनी सुधा हो। देवि! तुम्हीं संध्या, सावित्री तथा परम जननी हो। तुम्हीं इस विश्व-ब्रह्माण्ड को धारण करती हो। तुमसे ही इस जगत् की सृष्टि होती है। तुम्हीं से इसका पालन होता है और सदा तुम्हीं कल्प के अन्त में सबको अपना ग्रास बना लेती हो। जगन्मयी देवि! इस जगत् की उत्पत्ति के समय तुम सृष्टिरूपा हो, पालन-काल में स्थितिरूपा हो तथा कल्पान्त के समय संहाररूप धारण करनेवाली हो। तुम्हीं महाविद्या, महामाया, महामेधा, महास्मृति, महामोहरूपा, महादेवी और महासुरी हो। तुम्हीं तीनों गुणों को उत्पन्न करनेवाली सबकी प्रकृति हो। भयंकर कालरात्रि, महारात्रि और मोहरात्रि भी तुम्हीं हो। तुम्हीं श्री, तुम्हीं ईश्वरी, तुम्हीं ह्री और तुम्हीं बोधस्वरूपा बुद्धि हो। लज्जा, पुष्टि, तुष्टि, शान्ति और क्षमा भी तुम्हीं हो। तुम खड्गधारिणी, शूलधारिणी, घोररूपा तथा गदा, चक्र, शंख और धनुष धारण करनेवाली हो। बाण, भुशुण्डी और परिघ- ये भी तुम्हारे अस्त्र हैं। तुम सौम्य और सौम्यतर हो-इतना ही नहीं, जितने भी सौम्य एवं सुन्दर पदार्थ हैं, उन सबकी अपेक्षा तुम अत्यधिक सुन्दरी हो। पर और अपर-सबके परे रहनेवाली परमेश्वरी तुम्हीं हो। सर्वस्वरूपे देवि! कहीं भी सत्-असत्रूप जो कुछ वस्तुएँ हैं और उन सबकी जो शक्ति है, वह तुम्हीं हो। ऐसी अवस्था में तुम्हारी स्तुति क्या हो सकती है? जो इस जगत् की सृष्टि, पालन और संहार करते हैं, उन भगवान को भी जब तुमने निद्रा के अधीन कर दिया है, तब तुम्हारी स्तुति करने में यहाँ कौन समर्थ हो सकता है? मुझको, भगवान शंकर को तथा भगवान विष्णु को भी तुमने ही शरीर धारण कराया है; अत: तुम्हारी स्तुति करने की शक्ति किसमें है? देवि! ये जो दोनों दुर्धर्ष असुर मधु और कैटभ हैं, इनको मोह में डाल दो और जगदीश्वर भगवान विष्णु को शीघ्र ही जगा दो। साथ ही इनके भीतर इन दोनों महान असुरों को मार डालने की बुद्धि उत्पन्न कर दो। इस प्रकार स्तुति करने पर तमोगुण की अधिष्ठात्री देवी योगनिद्रा भगवान के नेत्र, मुख, नासिका, बाहु, हृदय और वक्ष:स्थल से निकलकर ब्रह्माजी के समक्ष उपस्थित हो गयीं। योगनिद्रा से मुक्त होने पर भगवान जनार्दन उस एकार्णव के जल में शेषनाग की शय्या से जाग उठे। उन्होंने दोनों पराक्रमी असुरों को देखा जो लाल आँखें किये ब्रह्माजी को खा जाने का उद्योग कर रहे थे। तब भगवान श्रीहरि ने दोनों के साथ पाँच हजार वर्षो तक केवल बाहुयुद्ध किया। इसके बाद महामाया ने जब दोनों असुरों को मोह में डाल दिया तो वे बलोन्मत्त होकर भगवान से ही वर माँगने को कहा। भगवान ने कहा कि यदि मुझ पर प्रसन्न हो तो मेरे हाथों मारे जाओ। असुरों ने कहा जहाँ पृथ्वी जल में डूबी न हो, वहीं हमारा वध करो। तब भगवान ने तथास्तु कहकर दोनों के मस्तकों को अपनी जाँघ पर रख लिया तथा चक्र से काट डाला। इस प्रकार देवी महामाया (महाकाली) ब्रह्माजी की स्तुति करने पर प्रकट हुई। कमलजन्मा ब्रह्माजी द्वारा स्तवित महाकाली अपने दस हाथों में खड्ग, चक्र, गदा, बाण, धनुष, परिघ, शूल, भुशुण्डि, मस्तक और शंख धारण करती हैं। त्रिनेत्रा भगवती के समस्त अंग दिव्य आभूषणों से विभूषित हैं।

  • x
  • कामदेव तेरा इतना साहस तूने मुझपे अपने तीर का प्रयोग किया !! महादेव की क्रोधाग्नि

    9:07

    कामदेव तेरा इतना साहस तूने मुझपे अपने तीर का प्रयोग किया !! महादेव की क्रोधाग्नि

    Episode 27

    90002-1


    शिव या महादेव आरण्य संस्कृति जो आगे चल कर सनातन शिव धर्म नाम से जाने जाती है में सबसे महत्वपूर्ण देवताओं में से एक है। वह त्रिदेवों में एक देव हैं। इन्हें देवों के देव महादेव भी कहते हैं। इन्हें भोलेनाथ, शंकर, महेश, रुद्र, नीलकंठ, गंगाधार आदि नामों से भी जाना जाता है। तंत्र साधना में इन्हे भैरव के नाम से भी जाना जाता है। हिन्दू शिव घर्म शिव-धर्म के प्रमुख देवताओं में से हैं। वेद में इनका नाम रुद्र है। यह व्यक्ति की चेतना के अन्तर्यामी हैं। इनकी अर्धांगिनी (शक्ति) का नाम पार्वती है। इनके पुत्र कार्तिकेय और गणेश हैं, तथा पुत्री अशोक सुंदरी हैं। शिव अधिक्तर चित्रों में योगी के रूप में देखे जाते हैं और उनकी पूजा शिवलिंग तथा मूर्ति दोनों रूपों में की जाती है। शिव के गले में नाग देवता विराजित हैं और हाथों में डमरू और त्रिशूल लिए हुए हैं। कैलाश में उनका वास है। यह शैव मत के आधार है। इस मत में शिव के साथ शक्ति सर्व रूप में पूजित है।

  • x
  • महाकाली का विनाशकारी क्रोध देख शंकर जी ने लिया ये फैसला - काली के रास्ते में शिव - Maa Devi

    28:16

    महाकाली का विनाशकारी क्रोध देख शंकर जी ने लिया ये फैसला - काली के रास्ते में शिव - Maa Devi

    You are watching Devi Maa YouTube Channel
    ☛ Presented By :- RAJU MISHRA

    LIKE || COMMENT || SHARE AND SUBSCRIBE
    Subscribe Now :
    --------------------------------------------------------------------
    ☛ Serial :- Maa Shakti
    --------------------------------------------------------------------
    Thank You for visit Devi Maa YouTube Channel
    ►►►►►►►►►►►►►►

  • भगवान शिव क्यों माँ काली के चरणों के नीचे लेट गये थे || BR Chopra Superhit Hindi Serial @ BR Studios

    14:54

    भगवान शिव क्यों माँ काली के चरणों के नीचे लेट गये थे ||
    BR Chopra Superhit Hindi Serial @ BR Studios
    This serial is made to provide knowledge to our viewers about the questions that comes in every mind .We people always thinks that how we come in the world or who comes first in world and how this whole world formed.This serial gives you every answer of your questions.
    So,Pls Like and Subscribe my channel and stay Tuned with us fro further episodes.

  • x
  • शिव को क्यूँ काली माँ के चरणों में लेटना पड़ा ¦ Maa Kali Ka Chamunda Roop #

    28:57

    शिव को क्यूँ काली माँ के चरणों में लेटना पड़ा ¦ Maa Kali Ka Chamunda Roop #
    माँ शक्ति की सम्पूर्ण कहानी # BR Chopra Popular Hindi Devotional Serial # Must Watch Latest Episode
    Hello Friends Welcome To My Channel Plz Watch this Video Like Share And For More Videos
    Subscribe My Channel - BR Chopra-TV Serials-B.R. TV

  • देखिए कैसे हुवा माँ दुर्गा का जन्म !! Maa Durga Avatar !! Episode 43 #MaaShakti

    10:07

    देखिए कैसे हुवा माँ दुर्गा का जन्म !! Maa Durga Avatar !! Episode 43 #MaaShakti

    दुर्गा हिन्दुओं की प्रमुख देवी हैं जिन्हें केवल देवी और शक्ति भी कहते हैं। शाक्त सम्प्रदाय की वह मुख्य देवी हैं जिनकी तुलना परम ब्रह्म से की जाती है। दुर्गा को आदि शक्ति, प्रधान प्रकृति, गुणवती माया, बुद्धितत्व की जननी तथा विकार रहित बताया गया है। वह अंधकार व अज्ञानता रुपी राक्षसों से रक्षा करने वाली तथा कल्याणकारी हैं। उनके बारे में मान्यता है कि वे शान्ति, समृद्धि तथा धर्म पर आघात करने वाली राक्षसी शक्तियों का विनाश करतीं हैं। ॐ श्री दुर्गाय नम: देवी दुर्गा का निरूपण सिंह पर सवार एक देवी के रूप में की जाती है। दुर्गा देवी आठ भुजाओं से युक्त हैं जिन सभी में कोई न कोई शस्त्रास्त्र होते है। उन्होने महिषासुर नामक असुर का वध किया। महिषासुर (= महिष + असुर = भैंसा जैसा असुर) करतीं हैं। हिन्दू ग्रन्थों में वे शिव की पत्नी दुर्गा के रूप में वर्णित हैं। जिन ज्योतिर्लिंगों मैं देवी दुर्गा की स्थापना रहती है उनको सिद्धपीठ कहते है। वहाँ किये गए सभी संकल्प पूर्ण होते है।

  • x
  • महादेव ने तीसरी आँख खोलकर कामदेव को भस्म क्यों किया ?

    6:24



    Shakti
    Cults of goddess worship are ancient in India. The branch of Hinduism that worships the goddess, known as Devi, is called Shaktism. Followers of Shaktism recognize Shakti as the power that underlies the male principle, and Devi is often depicted as Parvati the consort of Shiva or as Lakshmi the consort of Vishnu. She is also depicted in other guises, such as the fierce Kali or Durga. Shaktism is closely related with Tantric Hinduism, which teaches rituals and practices for purification of the mind and body.The Mother Goddess has many forms. Some are gentle, some are fierce. Shaktas use chants, real magic, holy diagrams, yoga and rituals to call forth cosmic forces

    Saiva
    Saivism is the Hindu sect that worships the god Shiva. Shiva is sometimes depicted as the fierce god Bhairava. Saivists are more attracted to asceticism than adherents of other Hindu sects, and may be found wandering India with ashen faces performing self-purification rituals. They worship in the temple and practice yoga, striving to be one with Siva within.

    Vaishnava
    Vaishnavism is the sect within Hinduism that worships Vishnu, the preserver god of the Hindu Trimurti ('three images', the Trinity), and his ten incarnations. It is a devotional sect, and followers worship many deities, including Ram and Krishna, both thought to be incarnations of Vishnu. The adherents of this sect are generally non-ascetic, monastic and devoted to meditative practice and ecstatic chanting.Vaishnavites are mainly dualistic. They are deeply devotional. Their religion is rich in saints, temples and scriptures.

  • Bansidhar Chaudhari ka maithili chhath git lalanwa bina suna lagai chhai anganwa

    3:49

    Lalanwa Bina Suna Lagai Chai Anganwa - ललनवा बिना सूना - Bansidhar Chaudhari


    Lalanwa Bina Suna Lagai Chai Anganwa - ललनवा बिना सूना - Bansidhar Chaudhary - Jk Yadav Films Singer - Bansidhar Chaudhary Writer - Sonu Singh Prajapati Director - RK Da & Bansidhar Chaudhary बंसीधर के छठ गाना बंसीधर के छठ के छठ #bansidharChaudhary #matabhakti #chhathsong

    कांच ही बांस के बहँगिया - Aragh Dehab Suraj Dev Ke | Arvind Akela Kalluji | Chhath Pooja Song

    CHOTU DADA MACHLI WALA | छोटू दादा मछली वाला Choto Comedy Khandesh

    #KHESARI LAL BEST TOP 10 COMEDY SCENE - एक बार जरूर देखे - COMEDY SCENE FROM BHOJPURI MOVIE 2019

    संजीवनी लेने गए हनुमान जी के साथ रास्ते में घटी ये घटना - HD Ramayan - Mere Prabhu Ram

    पत्त्नी के कहने पर जब पति दुसरी शादी कर लेता है तो देखिये फिर क्या होता है,Kiran Singh|Jilo Bhojpuri

    महाकाली का विनाशकारी क्रोध देख शंकर जी ने लिया ये फैसला - काली के रास्ते में शिव - Maa Devi


    ????PUBG MOBILE LIVE???? #CHILL STREAM #OP SNIPING #RUSHING & HOTDROP GAMEPLAY ||

    भात खातिर रामलाल के दुनु कनिया में जबरदस्त महाभारत || RAMLAL MAITHILI COMEDY


    किडनी चोर कैसे प्लांनिग करके बच्चे चुराते है ~ kidney chor

Menu